समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद के लिए किसान ऑनलाइन पंजीयन 20 अक्टूबर शुरू

राजस्थान समर्थन मूल्य पर फसल खरीद के लिए ऑनलाइन पंजीयन शुरू

जयपुर: प्रदेश में मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली की फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य (minimum support price) पर खरीद करने के लिए ऑनलाइन पंजीयन (रजिस्ट्रेशन) 20 अक्टूबर 2020 से शुरू कर दिया जाएगा । राजस्थान राज्य के सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना के मुताबिक़ राज्य के किसानों (Farmers) को अपनी फसलों को MSP पर बेचने व ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े इसके लिए पिछले वर्ष की तुलना में इस बार फसलों की सरकारी खरीद 850 से अधिक केन्द्रों की स्थापना की गई है ।

इसे भी पढ़े : सरसों की बुवाई (बिजाई) कब और कैसे करें? आइये जाने सही तकनीक के बारें में

लेटेस्ट अपडेट 20 अक्टूबर 2020

मूंगफली उत्पादक किसानों के लिए बुरी खबर : प्रदेश में अभी नही होगी मूंगफली की समर्थन मूल्य (MSP) पर खरीद, पंजीयन प्रक्रिया को किया रद्द.

मूंगफली फसल खरीद पंजीयन राजस्थान
समर्थन मूल्य पर मूंगफली फसल खरीद पंजीयन रद्द राजस्थान

केन्द्र सरकार की फसल खरीद एजेंसी नेफैड ने 18 नवम्बर 2020 से शुरू होने वाली मूंगफली खरीद को लेकर अपनी असमर्थता व्यक्त करते हुए फिलहाल के लिए अपने हाथ खड़े कर दिए है . जिसके चलते प्रदेश में मूंगफली के लिए 20 अक्टूबर से शुरू होने वाले फसल रजिस्ट्रेशन को आगामी आदेश तक के लिए स्थगित (Postponed) कर दिया गया है .

राजस्थान में मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली MSP मूल्य पर सरकारी खरीद कब शुरू होगी ?

प्रदेश में न्यूनतम समर्थन मूल्य खरीद (MSP) पर खरीफ सीजन 2020-21 के लिए मुंग, उड़द और सोयाबीन फसलों की सरकारी खरीद 01 नवंबर 2020 से और मूंगफली की सरकारी खरीद 18 नवम्बर 2020 से शुरू होगी।

समर्थन मूल्य पर फसलों (Grain) की खरीद के लिए RAJFED (Rajasthan State CO-Operative Marketing Federation Ltd) द्वारा सभी तैयारिया शुरू कर दी गई है .

सहकारिता मंत्री के अनुसार इस बार राजस्थान प्रदेश में खरीफ फसलों की सरकारी खरीद करवाने के लिए ८५० से भी अधिक केंद्र स्थापित किये जायेंगें इनमें मूंग के लिए 365, उड़द के लिए 161, मूंगफली के 266 एवं सोयाबीन के लिए 79 खरीद केन्द्र चिह्वित किए गए हैं।

राजस्थान में मूंग, उड़द, सोयाबीन और मूंगफली की सरकारी खरीद के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कब से शुरू होगा?

समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली की खरीद के लिए ऑनलाइन पंजीकरण का कार्य मंगलवार , 20 अक्टूबर 2020 से शुरू किया जा रहा है। किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना ना करना पड़े इसके लिए विभाग द्वारा ऑनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था ई-मित्र एवं खरीद केन्द्रों पर प्रातः 9 बजे से सायं 7 बजे तक की गई है।

ऑनलाइन पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज / डाक्यूमेंट्स

जैसा की अब तक आपको पता चल गया होगा की राजस्थान में मुंग, उड़द और सोयाबीन फसलों की समर्थन मूल्य पर  01 नवंबर 2020 और मूंगफली की 18 नवम्बर 2020 से शुरू होने वाली सरकारी खरीद के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का कार्य आपके स्थानीय ई-मित्र एवं खरीद केन्द्रों 20 अक्टूबर से शुरू होने जा रहा है ।

किसानों को अपनी फसल बेचने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करवाने के लिए मुख्य रूप से जिन-जिन डॉक्यूमेंट (कागजात) की जरूरत पड़ेगी उसकी लिस्ट आपको यहाँ दी जा रही है ।

  • आधार कार्ड
  • जनआधार कार्ड नम्बर / भामाशाह कार्ड
  • खसरा गिरदावरी की प्रति
  • बैंक पासबुक की प्रति पंजीयन फार्म के साथ अपलोड़ करनी होगी।
  • मोबाइल नंबर

नोट : जिस किसान द्वारा बिना गिरदावरी के ऑनलाइन पंजीयन करवाया जायेगा, उसका पंजीयन समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद के लिये मान्य नहीं होगा।

राजफेड ऑनलाइन पंजीकरण किसानों के लिए जरूरी दिशा-निर्देश

फसल खरीद पंजीयन राजस्थान 2020 : प्रबंध निदेशक राजफैड श्रीमती सुषमा अरोडा के अनुसार किसानों को अपनी कृषि उपज (agricultural product) न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर बेचने के लिए कुछ अति महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना अति आवश्यक है । आइये जाने क्या है वो जरुरी बातें .. Rajfed Online Panjikaran Guidelines Moong, Urad, Soyabean, Mungfali

  1. समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाने से पहले किसान अपना आधार कार्ड में अपना मोबाइल नंबर अपडेट रखे।
  2. किसान पंजीयन कराते समय यह सुनिश्चित कर ले कि पंजीकृत मोबाईल नम्बर, से जनआधार कार्ड से लिंक हो जिससे समय पर तुलाई दिनांक की सूचना किसान को फोन पर मिल सके।
  3. किसान बैंक खाता संख्या सही दे ताकि फसल के ऑनलाइन भुगतान के समय किसी प्रकार की परेशानी किसान को नहीं हो।
  4. बैंक खाते में अपना मोबाइल नंबर लिंक करवा लें , ताकि फसल भुगतान राशि की जानकारी मिल सके
  5. अपने पटवारी से समय पर अपनी गिरदावरी रिपोर्ट ले कर ऑनलाइन पंजीकरण करवाए।
  6. ऑनलाइन पंजीकरण करवाने के जाते समय अपना आधार कार्ड, जन आधार कार्ड , बैंक खाता पास बुक , खसरा गिरदावरी रिपोर्ट और मोबाइल नंबर अपने साथ अवश्य ले जाएं ।
  7. ऑनलाइन पंजीकरण करवाते समय ध्यान रखे की सभी जानकारी सही से भारी जाए क्योकि एक बार पंजीकरण फॉर्म सबमिट होने के बाद बदलाव नही किया जा सकेगा ।
  8. जिस किसान के नाम गिरदावरी होगी उसके नाम से ही पंजीयन करवा सकेगा।
  9. ऑनलाइन गिरदावरी अपलोड होने के बाद किसी प्रकार का संशोधन मान्य नहीं होगा ।
  10. पंजीकरण के समय किसान जिस फसल का विवरण देगा उसी फसल तुलाई होगी अन्य की नहीं।
  11. ऑनलाइन पंजीकरण में अपलोड की गई गिरदावरी और मूल गिरदावरी में मिलान होने के बाद ही तुलाई हो सकेगी।
  12. यदि किसी व्यक्ति ने भूमि लीज पर ले रखी है या हिस्से पर ले रखी है तो दोनों में से एक ही किसान पंजीकरण करवा सकते है। कास्तकार द्वारा पंजीकरण करवाने पर भूमि मालिक का जन आधार कार्ड नंबर लगाना अनिवार्य है। और भूमि मालिक और कास्तकार के बीच अनुबंध पत्र 100 रूपए के स्टाम्प पेपर पर होना चाहिए।

नोट : किसान इस बात का विशेष ध्यान रखे कि जिस तहसील में कृषि भूमि में उसी तहसील के कार्यक्षेत्र वाले खरीद केन्द्र पर उपज बेचान हेतु पंजीकरण करावें। दूसरी तहसील में यदि पंजीकरण कराया जाता है तो पंजीकरण मान्य नही होगा।

जानिये ! मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली का वर्ष 2020-21 के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य कितना है ?

सरकार द्वारा खरीफ फसल मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली का वित्तीय वर्ष 2020-2021 के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) प्रति क्विंटल के हिसाब से निम्नलिखित प्रकार से घोषित किया गया है .

फसल का नाम न्यूनतम समर्थन मूल्य 2020-21 (MSP)
मूंग7196 रुपये प्रति क्विंटल
उड़द6000 रुपये प्रति क्विंटल
सोयाबीन3880 रुपये प्रति क्विंटल
मूंगफली5275 रुपये प्रति क्विंटल

 कुल खरीद कितनी होगी ? जाने !

श्री आंजना के अनुसार मूंग की 3.57 लाख मीट्रिक टन, उड़द 71.55 हजार, सोयाबीन 2.92 लाख तथा मूंगफली 3.74 लाख मीट्रिक टन की खरीद के लक्ष्य की स्वीकृति भारत सरकार द्वारा दी गई है।
     

ई-मित्र के लिए ऑनलाइन पंजीयन के सम्बन्ध जरुरी दिशा निर्देश

यदि ई-मित्र द्वारा गलत पंजीयन किये जाते या तहसील के बाहर पंजीकरण किये जाते है तो ऐसे ई-मित्रों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही की जाएगी।
     
MSP ऑनलाइन पंजीयन किसान हेल्पलाइन नंबर

फसल खरीद पंजीयन को लेकर राजस्थान के किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए हेल्प लाइन नम्बर सेवा शुरू की जायेगी जिसका टोल फ्री नंबर 1800-180-6001 जारी कर दिया गया है, ये नंबर भी 20 अक्टूबर से प्रारंभ हो जाएगा।  

Web Title : Online registration for purchase of moong, urad, soybean and Groundnut on msp will start from October 20

Leave a Comment