मध्यप्रदेश के किसानों को अब मिलेगा सब्जियों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP)

मध्यप्रदेश में सब्जियों का न्यूनतम समर्थन मूल्य

भोपाल : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा केरल राज्य की तर्ज पर मध्यप्रदेश के किसानों (Farmers) को भी सब्जियों (Vegetables) का न्यूनतम समर्थन मूल्य (sabziyon ka msp) देने की घोषणा की गई है। अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश राज्य में सब्जियों का MSP (minimum support price) मूल्य निर्धारित करने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। जानकारी के लिए आपको बता दे की देश में सब्जियों का न्यूनतम समर्थन मूल्य तय करने वाला पहला राज्य केरल है, जहां इसे 1 नवंबर 2020 से लागू किया जा चुका है। केरल में सब्जियों के समर्थन मूल्य सम्बन्धी विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ पर जाए

सीएम ने सब्जियों के न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारण संबंधी रिपोर्ट प्रस्तुत करने के दिए आदेश:

मध्यप्रदेश में तय होगा अब सब्जियों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP)

मुख्यमंत्री चौहान ने 23 नवंबर को उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों को दो दिन में इस सम्बन्ध में विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर प्रस्तुत करने के आदेश दिए थे । सीएम ने इस मौके पर कहा की हमारा किसान दिन रात एक करके अपना पसीना बहाकर सब्जियों का उत्पादन करता है , लेकिन किसानों से बिचौलिये अधिक मुनाफा ले जाते है और किसानों को फलों व सब्जियों का सही दाम नही मिल पाता है। आगे उन्होंने कहा की हमें ऐसे बाज़ार विकसित करने की आवश्यकता है जिसमे किसानों को उनकी उपज का सही मंडी में भाव (कीमत) मिल सके। सब्जियों के थोक मूल्य व खुदरा मूल्य में अधिक अंतर नहीं होना चाहिए ।

अधिकारियों को औचक निरीक्षण करने को कहा

मुख्यमंत्री ने पशुपालन व संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वो सब्जी मंडियों आदि का औचक निरीक्षण कर देखें कि किसानों से सब्जी किस मूल्य पर खरीदी जा रही है और उपभोक्ता को किस मूल्य पर मिल रही है।

Leave a Comment