हरियाणा की अनाज मंडियों में धान, मूंग, बाजरा व मक्का की कुल आवक और MSP खरीद कितनी हुई, जानिये

चण्डीगढ़: केंद्र सरकार द्वारा लागू किये गये 3 नये कृषि कानूनों के विरोध के बीच हरियाणा राज्य की अनाज मंडियों में 13 अक्टूबर 2020 तक धान की कुल आवक 18,14,405 मीट्रिक टन हुई , इसमें से अभी तक सरकार द्वारा 18,13,805 मीट्रिक टन धान की न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर खरीद की जा चुकी है और 12 अक्तूबर तक हरियाणा की विभिन्न कृषि उपज मंडियों से 12,48,108 मीट्रिक टन धान का उठान भी किया जा चुका है.

खाद्य एवं आपूर्ति विभाग हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास द्वारा दी जानकारी के अनुसार प्रदेश में केंद्र सरकार की अनुमति मिलने के बाद अंबाला, करनाल, कैथल और कुरुक्षेत्र जिलों में 27 सितंबर, 2020 से धान की सरकारी खरीद शुरू कर दी गई थी तथा शेष जिलों की मंडियों में 29 सितंबर 2020 से खरीद शुरू कर दी गई थी. इस बार राज्य में धान की सरकारी खरीद यानि न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर खरीद करने के लिए 198 मंडियां खोली गई हैं.

किसके द्वारा कितनी धान की MSP खरीद की गई

खरीद एजेंसियों के नाम धान की कुल खरीद (मीट्रिक टन)
खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा10,09,105 मीट्रिक टन
हैफेड द्वारा6,06,776 मीट्रिक टन
भारतीय खाद्य निगम द्वारा12,375 मीट्रिक टन
हरियाणा स्टेट वेयरहाउसिंग कॉर्पोरेशन द्वारा1,85,549 मीट्रिक टन
डाटा रिपोर्ट: 13 अक्टूबर 2020 तक

धान की एमएसपी खरीद 2020-21

Haryana paddy, moong, millet and maize MSP purchases 2020

हरियाणा प्रदेश में खरीद एजेंसियों द्वारा धान की खरीद सरकार द्वारा निर्धारित कॉमन किस्म के लिए 1868 रुपये और ग्रेड-ए के लिए 1888 रुपये प्रति क्विंटल के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी 2020-21) पर की जा रही है.

# इसे भी पढ़ें : रबी सीजन 2021-22 के लिए फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य कितना है ? जाने

प्रदेश के किसानों को अपनी फसल सरकार द्वारा निर्धारित किये गये न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) पर बेचने के लिए “मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल” पर अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा . इस पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के बाद ही किसान अनाज मंडियों में अपनी धान MSP मूल्य पर बेच सकते हैं.

अन्य फसलों की कितनी हुई खरीद

बाजरे की खरीद:

मुख्य सचिव पीके दास द्वारा दी जानकारी के मुताबिक़ हरियाणा की 132 अनाज मंडियों में बाजरे की खरीद हैफेड और हरियाणा स्टेट वेयरहाउसिंग कॉर्पोरेशन द्वारा 1 अक्तूबर 2020 से शुरू की जा चुकी है .

  • बाजरा किसानों की रोजाना शेड्यूलिंग को 150 से बढ़ाकर 450 किसान प्रतिदिन कर दी गई है.
  • 13 अक्तूबर 2020 से पड़ोसी राज्यों के पंजीकृत धान किसानों की शेडयूलिंग भी शुरू हो गई है.
बाजरा MSPन्यूनतम समर्थन मूल्य 2150 रुपये प्रति क्विंटल
कुल खरीद12 अक्तूबर तक 70,060 मीट्रिक टन बाजरे की खरीद हुई है और 53,804 मीट्रिक टन का उठान हो चुका है

मक्के की खरीद:

प्रदेश में मक्के की MSP मूल्य पर खरीद के लिए 19 मंडियां खोली गई है और हैफेड को इसके लिए नोडल एजेंसी बनाया गया है.

मक्का MSPन्यूनतम समर्थन मूल्य 1850 रुपये प्रति क्विंटल
कुल खरीद12 अक्तूबर तक 807.65 मीट्रिक टन मक्का की खरीद हुई है और मंडियों से 524.30 मीट्रिक टन का उठान हो चुका है.

मूंग की खरीद:

प्रदेश में मूंग की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद करने के लिए 23 मंडियां खोली गई हैं. हैफेड तथा हरियाणा स्टेट वेयरहाउसिंग कॉर्पोरेशन द्वारा msp मूल्य पर मूंग की खरीद की जा रही है.

मूंग MSPन्यूनतम समर्थन मूल्य 7196 रुपये प्रति क्विंटल
कुल खरीद12 अक्तूबर तक 480.02 मीट्रिक टन मूंग की खरीद हुई है. जबकि 381.55 मीट्रिक टन का उठान हो चुका है.

# इसे भी पढ़ें : हरियाणा में आज के ताजा फसलों के मंडी भाव यहाँ देखें

Web Title : Know the total procurement and MSP purchases of paddy, moong, millet and maize in the grain markets of Haryana.

Leave a Comment