Sarso Teji Mandi (23 June): सरसों की कीमतों में हल्की तेजी, जबकि मलेशिया खाद्य तेलों में बड़ी गिरावट

Agri Commodities Mustard Report in Hindi (Sarso Teji Mandi Report) 23 जून : सरसों भाव में कल भी लगातार दूसरे दिन बढ़त रही, हालांकि सरसों तेल (Mustard oil) और खल (Mustard cake) की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है। कमजोर मांग के बीच वैश्विक खाद्य तेल (edible oil) बाजारों में नकारात्मक रुख बना हुआ है। इसलिए कीमतों पर दबाव देखा जा रहा है।

जयपुर बाजार में 42 फीसदी कंडीशंड सरसों की कीमतें 25 रुपये बढ़कर 6900 रुपये प्रति क्विंटल बोली गईं। सरसों का तेल एक्सपेलर 4 रुपये की गिरावट के साथ 1380-1381 रुपये प्रति 10 किलोग्राम और कच्ची घानी का भाव भी 4 रुपये की गिरावट के साथ 1390-1391 रुपये प्रति 10 किलोग्राम पर कारोबार कर रहा था। सरसों की खली की कीमत 25 रुपये गिरकर 2625-2650 रुपये प्रति क्विंटल पर आ गई।

खाद्य तेलों की कीमतों में गिरावट जारी

विदेशी बाजारों में खाद्य तेलों की कीमतों में गिरावट रुक नहीं रही है। मलेशिया में पॉम तेल (Palm Oil) की कीमतें तकरीबन 10 फीसदी कम हो गए, वहीं शिकागों में भी खाद्य तेल के दामों में गिरावट दर्ज की जा रही है। अंतरराष्ट्रीय मार्केट (international market) में खाद्य तेल की कीमतों में गिरावट का असर, भारतीय घरेलू बाजार (Indian domestic market) में भी साफ देखा जा रहा है। विदेशी बाज़ारों में गिरावट के चलते तेल मिलें (oil mills) फिलहाल अपनी जरूरत के हिसाब से ही सरसों की खरीद कर रही है।

Palm hits near 6-month low as Indonesian exports, slower demand weigh

Malaysian palm oil price

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक मलेशिया में सितंबर महीने के वायदा अनुबंध में पॉम तेल की कीमतें छह महीने के नीचे स्तर पर आ गई। हालांकि खबर लिखे जाने तक आज बीते कारोबारी दिन के मुकाबले थोड़ी तेजी देखने को मिल रही है और 73 रिगिंट यानि की 1.62 फीसदी की तेजी के साथ भाव 4,572 रिगिंट प्रति टन पर कारोबार कर रहा है । मंगलवार को पॉम तेल की कीमतें पांच महीने के सबसे निचले स्तर पर पहुँच चुकी है, जनवरी 2020 के बाद की एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट दर्ज की गई। उधर डालियान का सबसे सक्रिय सोया तेल वायदा अनुबंध 5.1 फीसदी गिर गया है।

जबकि इसका पाम तेल वायदा अनुबंध 3.8 फीसदी तक फिसल गया। अमेरिका मिडवेस्ट में अनुकूल मौसम के पूर्वानुमान के बाद शिकागो बोर्ड ऑफ ट्रेड (सीबीओटी) पर सोया तेल की कीमतें आज इलेक्ट्रॉनिक व्यापार में 3.8 फीसदी तक नीचे आ गई।

इंडोनेशिया के व्यापार मंत्रालय के अधिकारी ओके नूरवान ने कहा कि दुनिया के शीर्ष पाम तेल निर्यातक इंडोनेशिया ने घरेलू बाजार दायित्व (डीएमओ) योजना के तहत बुधवार तक 894,481 टन पाम तेल उत्पादों के निर्यात परमिट जारी किए हैं, ताकि बढ़ती इन्वेंट्री को कम किया जा सके।

इंडोनेशिया सरकार पॉम तेल उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए लगातार कदम उठा रही है, क्योंकि वहां इनवेंट्री लगातार बढ़ रही है। उधर क्रुड पॉम तेल की कीमतों में चल रही गिरावट का असर भी पॉम तेल की कीमतों पर पड़ा है

सरसों : अभी ज्यादा घटबढ़ नही

उत्तपादक क्षेत्रों से आवक घटने तथा तेल मिलों की मांग से सरसों के भाव 6700/6750 रुपए प्रति कुंतल पर टिके रहे। मांग घटने से जयपुर में 42 प्रतिशत कंडीशन सरसों के भाव 6850/6950 रुपए प्रति कुंतल बोले गए। आपूर्ति व मांग को देखते हुए आने वाले दिनों में इसमें ज्यादा घटबढ़ संभावना नहीं है बाजार सीमित उतार-चढ़ाव के बीच घूमता रह सकता है।

इसे देखें : मंडी भाव 23 जून 2022: सरसों ग्वार में मंदा, गेहूं जौ चना सोयाबीन इत्यादि फसलों के हाजिर रेट

सरसों खल : तेजी की उम्मीद नही

ग्राहकी कमजोर होने तथा हरियाणा व राजस्थान की बिकवाली आने से सरसों खल के भाव 2650 / 2850 रूपये प्रति कुंतल पर सुस्त रहे। हाल ही में सरसों की कीमतों में 200 रूपये प्रति कुंटल की गिरावट आ गई। हापुड़ मंडी में इसके भाव 2900/3000 रूपये प्रति कुंतल बोले गए। सरसों में आई गिरावट तथा आपूर्ति बढ़ने की संभावना को देखते हुए आने वाले दिनों में इसमें बढ़ने की उम्मीद नहीं है बाजार दबा रह सकता है।

इसे भी पढ़े : Aaj Ka Sarso ka bhav: आज का सरसों का भाव ( 23rd June 2022)

देशभर की मंडियों में सरसों की दैनिक आवक (Mustard Arrival):-

देशभर की मंडियों में बुधवार 22 जून को सरसों की कुल दैनिक आवक 2.70 लाख बोरियों की हुई, इससे पहले मंगलवार को 2.50 लाख बोरियों की थी ।

राजस्थान की मंडियों में सरसों आवक 1.40 लाख बोरी
मध्य प्रदेश में सरसों आवक 15 हजार बोरी
उत्तर प्रदेश में सरसों आवक 40 हजार बोरी
हरियाणा और पंजाब में सरसों आवक 25 हजार बोरी
गुजरात में सरसों आवक 10 हजार बोरी
अन्य राज्यों की मंडियों में सरसों आवक 40 हजार बोरी की रही।

Leave a Comment