भारत से कपास और चीनी के आयात की मंजूरी से पाकिस्तान की इमरान सरकार ने मारी पलटी

पाकिस्‍तान (Pakistan) की इमरान खान (Imran Khan) सरकार ने भारत से कपास और चीनी के आयात (Import of Cotton and Sugar) को दी मंजूरी से एक ही दिन बाद पलटी मार ली है , जानकारी के लिए आपको बता दे की कल यानि 31 मार्च 2021 को आर्थिक समन्वय समिति (ECC) ने भारत से कपास एवं चीनी के इम्पोर्ट को मंजूरी प्रदान की थी। मंजूरी मिलने के बाद पाकिस्तान की राजनितिक पार्टियों ने जब इमरान खान को घेरना शुरू किया तो आज महज एक दिन बाद ही प्रधानमंत्री इमरान खान में हुई कैबिनेट बैठक में आर्थिक समन्वय समिति के उस प्रस्‍ताव को खारिज कर दिया गया।

पाकिस्तान आंतरिक मंत्री शेख रशीद ने भारत से कपास और चीनी के इंपोर्ट की मंजूरी पर अपनी सफाई देते हुए कहा की “जब तक भारत धारा 370 पर लिए गए फैसले को वापस नहीं करता, तब तक भारत से कपास और चीनी का आयात नहीं किया जाएगा।

पाकिस्तान सरकार के देश में महंगाई से निपटने के लिए लिए गये फैसला को पलटना पड़ा:-

मिडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक वर्तमान में पाकिस्तान का कपड़ा उद्योग काफी बुरे वक्त से गुजर रहा है। देश में चीनी की बढ़ती कीमतों पर काबू पाने एवं महंगाई से निपटने के लिए इमरान खान सरकार ने भारत से आयात को दुबारा शुरू करने का फैसला लिया था.

भारत-पाकिस्तान के बीच कपास और चीनी के कारोबार पर कब से रोक लगी है ?

जानकारी के लिए आपको बता दे की पाकिस्तान ने भारत से कपास और चीनी के आयत को बंद करने का फैसला अगस्त 2019 में भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद लिया था। अपने इस फैसले को वापस लेते हुए पाकिस्तान के नए वित्त मंत्री हम्माद अजहर ने बुधवार 31 मार्च को भारत के साथ फिर से कारोबार शुरू करने का ऐलान किया था।

इस ऐलान के महज एक दिन बाद ही 01 अप्रैल 2021 को पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने अपने इस फैसले को फिर से खारिज कर व्यापार ना करने पर मुहर लगा दी।

इसे भी पढ़े : किसानों की आय दोगुनी हुई या नहीं: जानिये किसान की कमाई और खर्चा कितना है?

Leave a Comment