सरसों की समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद 15 मार्च से होगी शुरू, ये है रेट

हिसार: प्रदेश में सरसों (mustard) की फसल पककर तैयार है , कुछ इलाकों में अभी कटाई का कार्य चल रहा है तो कुछ किसानों ने सरसों को काटकर निकाल भी लिया है । अनाज मंडियों में बिक्री के लिए नई सरसों आनी शुरू हो चुकी है। प्रदेश में इस बार सरसों की न्यूनतम मूल्य पर सरकारी खरीद का कार्य 15 मार्च 2021 से शुरू किया जाएगा ।

न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसल बेचने के लिए किसान को मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होता है, जिसकी विस्तृत जानकारी आप इस लिंक पर जाकर देख सकते है .

सरसों क्या रेट है ?

वर्ष 2020-2021 के लिए सरसों का न्यूनतम समर्थन मूल्य 4650 रुपये प्रति क्विटल रखा गया है। वहीं प्रदेश की विभिन्न स्थानीय अनाज मंडियों में व्यापारियों द्वारा नई सरसों 5000 से 5400 रुपये प्रति क्विटल के हिसाब से खरीदी जा रही है, जो की सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) से कहीं ज्यादा हैं।

Mustard price in Haryana 2021: हरियाणा की स्थानीय अनाज मंडियों में नई सरसों का क्या भाव चल रहा है ? आइये जाने

मंडी का नामनई सरसों का रेट 
आदमपुर5000-5376
सिरसा 4800-5360
सिवानी 5000-5200
भट्टू4850-5325

नोट : उपरोक्त सरसों की खरीद के मंडी भाव 10 मार्च 2021 तक के है.

देश में इस बार सरसों की बंपर पैदावार का है अनुमान

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय जारी अग्रिम अनुमान रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2020-21 में सरसों का उत्पादन 120 लाख टन रहने की उम्मीद है. कृषि मंत्रालय के अधिकारी द्वारा दी जानकारी के अनुसार सरसों के अच्छे भाव के चलते इस बार देश के किसानों ने सरसों की खेती में खूब दिलचस्पी दिखाई है।

पिछले वर्षों में सरसों का उत्पादन कितना हुआ?

केंद्रीय कृषि मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2018-19 में सरसों का उत्पादन 92.56 लाख टन हुआ था , वही पिछले वर्ष यानि 2019-20 में 91.16 लाख टन का उत्पादन हुआ था .

इसे भी पढ़े : हरियाणा सरकार का फसलों की सरकारी खरीद (MSP) और भंडारण के लिए बड़ा फैसला

Leave a Comment