ग्वार के भाव में तेजी-मंदी का कारण क्या है? जाने एक्सपर्ट्स की राय

ग्वार तेजी मंदी ताजा रिपोर्ट टुडे : ग्वार (Guar Crop) की फसल इस बार पिछले साल की तुलना में कमजोर दिखाई पड़ रही है । पिछले साल ग्वार का उत्पादन 55 लाख बोरी के आसपास था जोकि इस बार घटकर लगभग 35 लाख बोरी के आसपास रहने का अनुमान जताया जा रहा है । इस बार ग्वार का उत्पादन पिछले साल के मुकाबले काफी कम रहने वाला है जो डिमांड और सप्लाई के अंतर को काफी बढ़ा देगा ।

जानकारों के अनुसार अगर ग्वार के डिमांड और सप्लाई के अंतर को पूरा करना है तो लगभग 80 लाख बोरी के आसपास का ग्वार होना चाहिए । ग्वार के ट्रेडर्स और मार्किट एक्सपर्ट्स बताते है कि ग्वार की तेजी-मंदी इतनी फसल पर निर्भर नहीं करती जितनी डिमांड और सप्लाई पर करती है । ग्वार के मौजूदा ट्रेंड को देखा जाए तो ग्वार की तेजी-मंदी अब डिमांड पर शिफ्ट हुई है न की इसकी फसल पर ग्वार में मंदी-तेजी कैसे होगी तय।

ग्वार के एक्सपर्ट्स का कहना है कि जिस दिन बाजार में निर्यातक माल लेने आते है उस दिन कीमतें बढ़ जाती है और जिस दिन नहीं आते बाजार शांत रहता है और कीमतों में गिरावट रहती है । यही वजह है की हमने वायदा में ग्वार की कीमतों में कभी 6 फीसदी के ऊपरी सर्किट तो कभी 6 फीसदी के निचले सर्किट लगते देखे है हालांकि ग्वार के निर्यात में बढ़ोतरी हुई है ।

वहीं कुछ जानकारों का ये भी कहना है कि जो किसान है वो ग्वार को अच्छी तेजी में भी बेचे को तैयार नहीं है, क्योंकि उन्हें इसके और बढ़िया दाम चाहिए ग्वार एक ऐसी कमोडिटी है जोकि सालों तक खराब नहीं होती है और स्टॉक की जा सकती है । अभी कुछ मार्किट एक्सपर्ट्स का ये मानना है कि ग्वार के निर्यात में थोड़ी और बढ़ोतरी होने से और पाउडर प्लांट द्वारा खरीदी होने से ग्वार की कीमतों को पंख लग सकते है?

नोट : व्यापार अपने विवेक से करें

ग्वार का क्या भाव चल रहा है मंडी में?

आज का ग्वार का ताजा मंडी रेट जानने के लिए यहाँ आगे दिए लिंक पर विजिट करें .. ग्वार भाव आज का यहाँ देखें

Web Title : lets know the resion behind rise and fall in the the price of guar

Leave a Comment